Monday, 19 December 2016

बस तुम....



एक आस, दिल का एहसास..,मेरी सोच में बस तुम..,

एक कमी हर सवाल का जवाब..,तुम्हारा ख्याल और बस तुम.., 

एक शाम तुम्हारा साथ तो क्या बात और बस तुम...! 

दिल की फ़रियाद..,हर पल एक दुआ तुम्हारी याद और बस तुम...,

दिल का सुक़ून और मेरा जूनून तुम बस तुम और तुम...!!!

दीप 

0 comments: