Thursday, 18 December 2014

नफरत और जुनून


कितना बेबस है इंसान, हैवानियत के आगे...

कितना चूर है अपनी ही नफरतों और जुनून के आगे...,

कोई जा के पूछे इन जूनून के मारे  हैवानों से...

कितना तड़पता है, ख़ुदा इंसान की इस शैतानियत के आगे...!!!

दीप

0 comments: