Thursday, 25 December 2014

इंतज़ार...



ऐ जिंदगी, इतना सा करम कर दे...,

मेरे रक़ीब को मुझ पे मेहरबान कर दे...!

तमाम उम्र मेरी है बस उसका इंतज़ार में गुज़र जाएंगी...,

गर तू एक पल उसका सिर्फ मेरे नाम कर दे...!!!


दीप 

0 comments: